कांच क्या है | बांधकाम क्षेत्र में कांच का उपयोग

आज के इस आर्टिकल में हम जानेंगे कि कांच क्या होता है कांच किस तरह बनाया जाता है कांच के कितने प्रकार होते हैं और कितने प्रकार के कांच बांधकाम यानी कि कंस्ट्रक्शन में यूज किए जाते हैं

कांच क्या है?

कांच ये अस्फटिकमय, पारदर्शक, ब्रिटल पदार्थ है जो कि विभिन्न प्रकार के सिलिकेट के मिश्रण को बहुत ठंडा करके बनाया जाता है

कांच को बनाने के लिए रेट और अन्य पदार्थों को भट्टी में 1500 डिग्री सेल्सियस तक गर्म करके पिघलाया जाता है| फिर इस पिघले हुए द्रव्य पदार्थ को मनचाहे आकार में डालने के लिए उस प्रकार के सांचे में डाला जाता है सांचा के आकार के हिसाब से यह पिघला हुआ कांच आकार प्राप्त करता है जिससे कांच से बनी हुई सामग्री बनती है

कांच के गुणधर्म | Properties of Glass

  • कांच एक ब्रिटल पदार्थ है
  • कांच विद्युत अवाहक पदार्थ है.
  • कांच असक्रिय पदार्थ है.
  • कांच पर पानी अथवा तो रसायनों की असर नहीं होती है
  • कांच को किसी भी आकार में ढाला जा सकता है.
  • कांच पारदर्शक अर्ध पारदर्शक तथा अपारदर्शक बनाया जा सकता है
  • कांच को सरलता से साफ किया जा सकता है
  • कांच की उस्मा चालकता कम होती है कांच विविध रंगों में उपलब्ध है

और पड़े : कारपेट एरिया, बिल्ट उप एरिया, और सुपर बिल्ट उप एरिया क्या होता है

कांच के उपयोग | Uses of Glass

आज के जमाने में तो कांच का उपयोग लगभग सभी क्षेत्रों में होने लगा है और वह भी बड़े पैमाने पर यहां हम कांच के कुछ उपयोग को जानेंगे

  • कांच का उपयोग विभिन्न सामग्री को संग्रह करने के लिए डब्बे के तौर पर होता है
  • कांच का उपयोग विभिन्न प्रकार की वस्तुएं बनाने में होता है
  • मेडिकल क्षेत्र में कांच का उपयोग दवाइयों का संग्रह करने वाले बोतल साधन मशीनरी वगैरह को बनाने में होता है
  • बांधकाम क्षेत्र में कांच का उपयोग देख दिखाव के लिए, पार्टीशन, दरवाजे – खिड़की की पैनल्स, वॉल वगैरह के तौर पर होता है
  • कांच का उपयोग स्टेशनरी की विभिन्न पदार्थों को बनाने के लिए होता है
  • कांच का उपयोग विभिन्न प्रकार के रसायनों को संग्रह करने के लिए होता है
  • कांच का उपयोग अग्नि प्रतिरोधक तथा ब्लास्ट प्रतिरोधक कांच के तौर पर भी होता है
  • कांच का उपयोग रसोई के सामानों को बनाने के लिए होता है
  • कांच का उपयोग विभिन्न प्रकार के डेकोरेशन मैटेरियल को बनाने के लिए होता है
  • कांच का उपयोग विभिन्न प्रकार के इलेक्ट्रिक साधन को बनाने के लिए होता है

और पड़े : ईंट कैसी होनी चाहिए। ईंट की साइज क्या होती है

कांच के प्रकार | Types of Glass

कांच के मुख्यता चार प्रकार होते हैं

  1. सोडा लाइम कांच
  2. पोटाश लाइन कांच
  3. पोटाश लेड कांच
  4. सामान्य कांच

1. सोडा लाइम काचं

सोडा लाइम कांच ये कांच का सबसे शुद्ध स्वरूप है जो कि सस्ता और कम उसमें तापमान पर पिघलता है सोडा लाइम कांच का उपयोग लेबोरेटरी के साधन, प्लेट गिलास, विंडो ग्लास, ट्यूब लाइट वगैरह बनाने में आता है

2. पोटाश लाइम कांच

पोटाश लाइम कांच सरलता से पिघलता नहीं है इस प्रकार के कांच को पिघलने के लिए उच्च तापमान की जरूरत होती है पानी तथा रसायन की कोई भी असर इस प्रकार के कांच पर होती नहीं है इस प्रकार के कांच का उपयोग उच्च तापमान पर काम करने के लिए उपयोग किया जा रहा है साधनों को बनाने के लिए होता है

3. पोटाश लेड कांच

कांच के इस प्रकार को फ्लिंट ग्लास के नाम से भी जाना जाता है इस कांच पर पानी तथा रसायन का असर नहीं होता है इस कांच का उपयोग प्रिज्म, बल्ब, लेंस वगैरह बनाने के लिए होता है यह का सरलता से पिघल जाता है

4. सामान्य कांच

सामान्य कांच भी अन्य कांच की तुलना में कठोर होता है यह कांच पर भी एसिड तथा अन्य रसायनों की असर नहीं होती है यह कांच जल्दी पिघलता नहीं है और बादामी तथा भूरा रंग में मिलता है

और पड़े: सीढ़ी के विभिन्न प्रकार

बांधकाम क्षेत्र में कांच के प्रकार

1. प्रेस्ड ग्लास

प्रेस्ड कांच

पिघले हुए कांच को प्रेस करके सीट अथवा अन्य प्रकार के आकारों में डालकर अन्य प्रकार के साधन बनाए जाते है

2. बिल्डिंग ब्लॉक्स

glass bricks

दो या दो से अधिक प्रेस कांच को पिघलाकर बीच में जगह रखकर जगह में शुन्य अवकाश रहे उस तरह जोड़कर बनाए हुए ब्लॉक को बिल्डिंग ब्लॉक्स कहते हैं. इस प्रकार के कांच के ब्लॉक को बांधकाम क्षेत्र में विभिन्न प्रकार के कंस्ट्रक्शन के लिए किया जाता है जैसे कि पार्टीशन वॉल के कंस्ट्रक्शन में अथवा दीवारों के कंस्ट्रक्शन में और अन्य डेकोरेटिव पर्पस के लिए भी बिल्डिंग ब्लॉक का यूज किया जाता है

3. लैमिनेटेड ग्लास

गर्मी अथवा तो दबान देख कर दो या दो से अधिक कांच की लहर को जोड़ने में आता है जिसे लैमिनेटेड ग्लास कहते हैं

4. वायर्ड ग्लास

Wired glass

इस प्रकार के कांच में कांच की रोलिंग करते समय स्टील की जाली रखने में आती है जिससे कांच टूटे तो उस समय वायर मेश के कारण कांच के टुकड़े एक साथ जुड़े रहते हैं इस प्रकार के कांच की स्ट्रेंथ अन्य कांचौ की तुलना में अधिक होती है. इस प्रकार के कांच नॉर्थलाइट, खिड़की दरवाजे की पैनल्स में, पार्टीशन वॉल वगैरह में उपयोगी रहते हैं इस प्रकार के कांच अधिक सेफ्टी प्रदान करते हैं

5. स्ट्रक्चर्ड ग्लास

Structured glass

कांच की लेंस को सीमेंट के साथ कठोर करके लोहे की frame के साथ जोड़ देने में आता है जिससे यह काच की स्ट्रेंथ बढ़ जाती है और यह कांच का उपयोग विविध प्रकार के कंस्ट्रक्शन जैसे के पेव्मेन्ट, पार्टीशन दीवाल वगैरह में होता है

6. अल्ट्रावायलेट रे ग्लास

Ultraviolet ray glass

इस प्रकार का कार्य अल्ट्रावायलेट किरणों को पास होने नहीं देता है इसका उपयोग स्कूल, हॉस्पिटल की खिड़कियों में कांच के तौर पर होता है

7. ओबस्कयोड्र ग्लास

Obscured glass

इस प्रकार के कांच के सरफेस के ऊपर ग्राइंडिंग करके अर्थ पारदर्शक बना दिया जाता है जिससे कांच के आरपार धाम देख नहीं सकते फिर भी दूसरी तरफ हमें प्रकाश मिल जाता है इस प्रकार के कांच का उपयोग पार्टीशन वॉल तथा टॉयलेट की खिड़की दरवाजों में होता है

8. फोन्झ ग्लास

इस प्रकार की कांच की रचना में बहुत सारे हवा के विकल्प (voids) होते हैं जिसके कारण यह कांच वजन में हल्के होते हैं यह कांच पानी के ऊपर भी तैर सकते हैं इस कांच को कागज की तरह का काट भी सकते हैं यह कांच का उपयोग एयर कंडीशनिंग एंड रेफ्रिजरेशन के लिए होता है