Surveying in Civil Engineering in Hindi || सर्वेक्षण क्या होता है।

नमस्ते दोस्तो, आज के आर्टिकल में हम जानेंगे की सिविल इंजीनियरिंग में surveying क्या है। surveying की definition क्या होती है। सर्वेक्षण का उपयोग क्यों होता है। कहा कहा पर होता है। Surveying के Principles in hindi, surveying के प्रकार और भी बहुत कुछ इस आर्टिकल में हमने बताया है।

तो अगर आर्टिक्ल थोड़ा भी अच्छा लगे तो प्लीज अपने दोस्तों को शेयर करे और हमें इसी तरह सपोर्ट करते रहे जिससे हम ऐसे ही सिविल इंजीनियरिंग से रिलेटेड इनट्रेस्टिंग आर्टिकल हिंदी में लिखते रहे। और आपको आर्टिकल अच्छा न लगे तो प्लीज कमेंट करे की क्यों अच्छा नहीं लगा। हम उसको सुधारने की कोशिश करेंगे।

Surveying Meaning in Hindi

surveying को हिंदी में सर्वेक्षण कहते है।

Surveying definition in Hindi | सर्वेक्षण की व्याख्या

surveying meaning in hindi

पृथ्वी के सरफेस पर आये हुए, सरफेस के ऊपर अथवा तो निचे सभी जगहों की सापेक्ष स्थान ( relative position ) नक्की करने की प्रक्रिया को सर्वेक्षण कहते है।

ये सभी जगहों की सापेक्ष स्थान ( relative position ), उनके अंतर, दिशा, और ऊंचाई जैसे मापो को लेकर तय करने में आता है।

Leveling Definition in Hindi | तलेक्षण की व्याख्या

Leveling ये सर्वेक्षण की एक शाखा है। जिसमे datum से पृथ्वी की सपाटी पर आये हुए विभिन्न जगहों की ऊंचाई नक्की करने में आता है।

अगर कम शब्दो में समजे तो ,

surveying ये क्षेतिज समतल ( horizontal plane ) में विविध जगहों की सापेक्ष स्थानं नक्की करने की क्रिया है।

Surveying definition in Hindi

Leveling ये उध्र्व समतल ( vertical plane ) में विविध जगहों की ऊंचाई नक्की करने की क्रिया है।

Leveling Definition in Hindi

Also read: Consistency test of Cement in Hindi || Full Explained

Purpose of Surveying | सर्वेक्षण के हेतु

  • खेत, संपति, जंगल, पहाड़, वगेरे जगहों की सीमा (Border) तय करने के लिए।
  • रोड, रेलवे, टनल वगेरे की alignment नक्की करने के लिए।
  • रोड, रेलवे, टनल, वगेरे में माटी काम के cutting और filling की मात्रा को जानने के लिए
  • डैम के कंस्ट्रक्शन से पहले जमीन की स्थलाकृति (topography) को समझने के लिए। जिससे हम ये जान पाए की डैम में कितना पानी संग्रा होगा। डैम में बनने वाले सरोवर के कारण कितने गांव डूबेंगे और भी बहुत सारी नॉलेज स्थल के सर्वेक्षण के बाद पता चलता है।
  • नहरों, गटर लाइन्स, पानी सप्लाई लाइन्स वगेरे की प्लानिंग और एलाइनमेंट के लिए सर्वेक्षण की जरूरत पड़ती है।
  • छेत्रफल और घनफल की गिनती करने के लिए सर्वेक्षण जरूरी है।
  • जगहों की टोपोग्राफी को समजने के लिए भी सर्वेक्षण की जरूरत पड़ती है।
  • और भी बहुत सारे हेतु के लिए सर्वेक्षण का उपयोग होता है।

Also Read: Hydration of Cement in Hindi || सीमेंट का हीट ऑफ़ हाइड्रेशन

Uses of Surveying | सर्वेक्षण के उपयोग

  • सर्वेक्षण का उपयोग टोपोग्राफी मैप बनाने के लिए होता है।
  • खेत और plots की बाउंड्री को दर्शाते cadastral map को बनाने के लिए।
  • कंटूर मैप बनाने के लिए
  • सर्वेक्षण का उपयोग डैम, कैनाल, रोड, रेलवे, पूल वगेरे के कंस्ट्रक्शन के लिए योग्य स्थान नक्की करने के लिए भी होता है।
  • नक्शा बनाने के लिए
  • पानी की लाइन्स, गटर, रोड वगेरे के ढाल (gradient ) को नक्की करने के लिए।
  • जमीन पर विविध स्थानों के दुरी को नक्की करने के लिए।
  • सर्वेक्षण का उपयोग करके हम जमीन के अंदर मौजूद खनिज तत्वों की मात्रा को जान सकते है।
  • रिमोट सेंसिंग के द्वारा खेती की जमीन, जंगलो, पानी वगेरे का सर्वेक्षण करके जानकारी इकठा करने के लिए।

Also Read: Solar Power Irrigation System in Hindi