What is Irrigation in Hindi || Irrigation क्या होता है

इस आर्टिकल में हम आपको बताएँगे की irrigation की होता है। इरीगेशन की जरुरत क्यों पड़ती है।  irrigation से क्या फायदे होते है। तो पूरा आर्टिकल अं त तक पड़े, अगर आर्टिकल अच्छा लगे तो अपने फ्रेंड्स, रिस्तेदारो को शेयर करे और अगर अच्छा न लगे तो हमें कमेंट करे।

irrigation in hindi

Irrigation क्या होता है। 

  • irrigation का हिंदी में मतलब होता है सिंचाई।
  • इरीगेशन की व्याख्या को जानने से पहले हम इरीगेशन के बेसिक नॉलेज को समझते है।
  • पृथ्वी पर इंसानो की तरह पेड़ पौधो को भी पानी की जरूरत पड़ती है।  क्युकी पेड़ पौधे सजीव होते है। पानी की जरूरत सभी पेड़ पौधो में समय और प्रकार के अनुसार बदलती रहती है। पेड़ पौधे की पानी की जरूरत बरसात द्वारा पूरी होती है।  वो कैसे उसे समझते है।
  • बरसात के मौषम में बरसाती पानी पेड़ पौधे और फसल की सिंचाई के लिए पानी की जरूरत को पूरा कर देता है।  और बचा हुआ बरसात का पानी जमीन द्वारा शोषण करने पर जमीन के अंदर दाखल होते है और भूगर्भ जल में जाकर मिल जाते है।  जिससे भूगर्भ जल का लेवल भी बढ़ता है।
  • यह भूगर्भ जल, गर्मी और ठंडी के मौसम में पेड़ पौधे और फसल की सिंचाई के लिए पानी की जरूरत को पूरा करते है।  जिससे पेड़ पौधे और फसल की पानी की जरूरत पुरे वर्ष संपूर्ण रहती है।  पर,
  • बरसात के अनियमित होने के कारण, पेड़, पौधे,और फसल की सिंचाई के लिए पानी की जरूरत पूरी नहीं हो पाती है जिससे पेड़,पौधे, और फसल को काफी नुक्सान होता है। परन्तु,
  • मनुष्य द्वारा बनायीं गयी तकनीकों से हम कम समय में होने वाले ज्यादा बरसात के पानी को डैम में संग्रह करके, पानी की कमी के दिनों में डैम मे स्टोर किये हुए पानी को नहेरो द्वारा सप्लाई देकर पेड़ पौधे और फसल की सिंचाई के लिए पानी की जरूरत को पूरा कर सकते है।
  • इस स्टोर किये हुए पानी को, पानी के कमी के दिनों में नहेरो द्वारा सप्लाई देकर पेड़ पौधे और फसल की सिंचाई के लिए पानी की जरूरत को पूरा करने की पद्धति को irrigation कहते है।
  • अगर technically इस व्याख्यायित कर तो  वो ऐसी होगी।

पेड़ पौधे और फसल की  सिचांई के लिए पानी की जरूरत को समझकर योग्य समय अंतर पर पेड़ पौधे और फसल के लिए पानी की जरूरत अनुसार पानी देने की प्रोसेस को Irrigation कहेंगे।

Irrigation सिस्टम की जरूरत कब पड़ती है? 

अगर आपने ऊपर के पैराग्राफ़ को पड़े होंगे तो आप समाज गए होंगे की इरीगेशन सिस्टम की जरूरत कब पड़ती है। पर नहीं तो निचे सरल भासा में बताया गया है।
बरसात की अनियमिता के कारण इरीगेशन सिस्टम की जरूरत पड़ती है जिसमे कम समय में होने वाली ज्यादा बरसात के पानी को डैम में संग्रह करके पानी के आकाल के समय में फसल की सिंचाई के लिए पानी की जरूरत को पूरा किया जाता है।
फसल की सिंचाई के एडवांस्ड इरीगेशन सिस्टम का भी उपयोग होता है जैसे की drip irrigation, sprinkler irrigation, जैसे पद्धतियो का उपयोग करके बहुत effective  तरीके से पानी की जरूरत को पूरा किया जा सकता है जिससे पानी की बचत भी होती है।

Irrigation System के फायदे :

  • Advanced irrigation system का उपयोग करके हम फसल के उत्पादन को बड़ा सकते है जिससे अनाज का उत्पादन बढ़ता है।
  • Irrigation  की विविध पद्धतियों का उपयोग करके हम फसल की सिंचाई के लिए फसल की पानी के जरूरत अनुसार पानी दे सकते है।  जिससे पानी की बचत होती है।
  • Irrigation पद्धितियो का उपयोग करने से देश की समृद्धि में बढ़ोतरी होती है। जिससे देश का विकास तेजी से होता है।
  • डैम द्वारा हम जलविघुत का उत्पादन कर सकते है।  जो की अन्य विघुत की तुलना में काफी सस्ती होती है।
  • Irrigation मे कंस्ट्रक्ट होने वाले canals के आजुबाजु के embankment को हम रोड की तरह उपयोग कर सकते है।
  • canals के आजुबाजु पेड़ो को उगाकर प्रदूषण को कम कर सकते है।
और पड़े :

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *