सिविल इंजीनियरिंग क्या हैं। सिविल इंजीनियर कैसे बने

Hello freind, इस blog पर हम civil engineering basic knowledge in hindi में explain करेनेगें जो आपको फ्यूचर में बहुत helpful होगी like, civil engineering study में, interview में , civil engineering से रिलेटेड कोई डाउट को समझने मै.

how to become a civil engineer in hindi

सिविल इंजीनियरिंग क्या हैं?

सिविल इंजीनियरिंग ये इंजीनियरिंग की एक ब्रांच है जिसमे infrastructure facilities की planning, design , construction, और maintenance के बारे में सिखाया जाता है ऐसा कहा  जाता है की मिलिट्री इंजीनियरिंग के बाद  सिविल इंजीनियरिंग ये इंजीनियरिंग की सबसे पुरानी ब्रांच है।
सिविल इंजीनियरिंग मै construction of road, bridges, buildings, dams, canals, water supply, railways, skyscraper building, truss, marine structure, और other special structure जैसे कामो का समावेश होता है.

Sub-branches of civil engineering details in Hindi

सिवील इंजीनियरिंग में बहुत सारी sub-branches का समावेश होता है जो की निचे लिस्ट मई दर्शाया है.

  1. Structure engineering
  2. Geotechnical engineering
  3. Water resource engineering
  4. Environmental engineering
  5. construction engineering
  6. Transportation engineering
  7. Building material engineering
  8. Surveying
  9. Earthquake engineering
  10. Urban engineering

1. Structure engineering:

structure engineering में structure जैसे की buildings, bridges, towers, flyovers, tunnels, dam, canals, skyscraper building, truss, marine structure, और other special structure की design और analysis के बारे में सिखाया जाता है

2. Geotechnical engineering:

Geotechnical engineering में soil and rock के behavior को understand करना सिखाया जाता हैं। soil से related structure जैसे की underground structure, dam, canals, etc structure पर soil behavior के बारे में समझाया जाता हैं।

3. Water resource engineering:

Water resource engineering में natural source से water के collection and management के बारे में सिखाया जाता हैं। इस branch में water supply structure के design and analysis के बारे मै भी समझाया जाता हैं।

4. Environmental engineering:

Environmental engineering में chemical treatment of waste, biological treatment of thermal wastes, purification of water and air और waste disposal के उपचार के बारे मै सिखाया जाता हैं।

5. Construction engineering:

Construction engineering में बिल्डिंग्स के planning और construction का समावेश होता हैं।

6. Transportation engineering:

Transportation engineering में roads, canals, highways, railways, airports, and other transportation structure के planning, design, and construction के बारे में सिखाया जाता हैं।

7. Building materials engineering:

Building materials engineering में construction materials के बारे में, material के advantages एंड disadvantages, purpose, और कैसे use करे उस के बारे मै समझाया जाता हैं।

8. Surveying:

surveying में earth (जमीन) की topography को समझना, earth measurements and dimension, earth की levels (heights ) के बारे में सिखाया जाता है।

9. Earthquake engineering:

Earthquake engineering में earthquake-proof structure कैसे बनाये  उसके बारे में सिखाया जाता हैं। structure design के बारे में सिखाया जाता है जिससे earthquake के समय स्ट्रक्चर गिरे ना।

10. Urban engineering:

Urban engineering में roads, paths, water supply network, sewer lines, street lighting, solid waste management, public parks के planning, designing, construction and, maintenance के बारे में सिखाया जाता है।

 सिविल इंजीनियर कैसे बने ?

सिविल इंजीनियर कैसे बने? ये question new student के लिए बहुत कन्फूशन भरा रहता हैं। इसलिए यहाँ में आपको सिंपल तरीके से बताऊंगा की सिविल इंजीनियर कैसे बने.

सिविल इंजीनियर बनने के लिए हमें सिविल इंजीनियरिंग का ग्रेजुएशन कम्पलीट करना होता। मतलब हमें B-TECH ( Bachelor of technologies) or BE(  Bachelor of engineering)  डिग्री लेनी होगी।

B-TECH or BE की डिग्री कैसे प्राप्त करे?

दो तरीको से हम B-TECH or BE की डिग्री प्राप्त कर सकते हैं।
  1. 10th पास करके 
  2. 12th पास करके

1. 10th पास करके:

10th पास करके  कैसे सिविल इंजीनियर बने?
  • 10th पास करके हमें सिविल इंजीनियरिंग का डिप्लोमा कोर्स करना हैं।
  • डिप्लोमा कोर्स करने के बाद हमें सिविल इंजीनियरिंग की डिग्री (Bachelor of engineering और  Bachelor of technologies) में एडमिशन लेना होता हैं।
  • यह डिग्री 4year  होती है।  परंतु डिप्लोमा किये होने के कारन हमें डायरेक्ट 2nd year में एडमिशन मिलता हैं। जिससे यह डिग्री हम 3year में ही कम्पलीट कर लेते हैं।
  • और कुछ समय की internship और साइट experiaence लेकर हम सिविल इंजीनियर बन जाते हैं।

2. 12th पास करके:

12th  पास करके  कैसे सिविल इंजीनियर बने?

  • सिविल इंजीनियर बनने के लिए 10th पास करने के बाद हमें 12th, mathematic science से करना होता है।
  • 12th पास करके हमें सिविल इंजीनियरिंग की डिग्री (Bachelor of engineering और  Bachelor of technologies) में एडमिशन लेना होता हैं।
  • यह डिग्री 4year  होती है।
  • 4year की degree कम्पलीट कर लेने के बाद कुछ समय की internship और साइट experiaence लेकर हम सिविल इंजीनियर बन जाते हैं।
और भी पड़े :

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *