Bulking of Sand in Hindi || रेती का फूलना

इस आर्टिकल में हम जानेंगे की bulking of sand क्या होता है। कैसे होता है। इसे हिंदी में क्या कहते है। और भी बहुत कुछ। तो आर्टिकल अच्छा लगे तो शेयर करे अपने फ्रेंड्स के साथ। और अच्छा न लगे तो कमेंट करे।

Bulking Of Sand :

bulking of sand in hindi

पानी के कारन रेती के कद  बढ़ोतरी होती है जिसे Bulking of sand कहते है। हिंदी में इसे रेती का फूलना कहते है। 

ये कैसे होता है ?

रेती का पानी के संपर्क में आने से रेती के सरफेस पर पानी की पतली लेयर बन जाती है (cohesion effect के कारन )  | जो रेती के पार्टिकल को एक दूसरे से दूर रखती है। रेती में पानी का प्रमाण कुछ हद तक बढ़ने से रेती का कद बढ़ता है। और बाद में पानी का और प्रमाण बढ़ने से रेती के सरफेस पर बनी पानी की लेयर टूट जाती है जिससे रेती का कद घटने लगता है।
सामान्य रेती में 15% से 20% तक रेती का बल्किंग होता है।
इसलिए रेती को जबभी कद में यानि की volume में मापना हो तो bulking of sand को ध्यान में लेना जरूरी है।
अगर कंक्रीट में उपयोग होने वाली रेती का  Bulking को ध्यान में न लिया न गया हो तो कंक्रीट में रेती की कमी होती है बल्किंग ऑफ़ सैंड के कारन जिससे कंक्रीट का सेग्रीगेशन अथवा तो होनेकॉम्बिंग होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *