Workability of concrete in Hindi | Meaning | Importance | Properties

इस आर्टिकल में हम जानेंगे की कंक्रीट की वर्काबिलिटी क्या होती है। फ्रेश कंक्रीट के कितने प्रॉपर्टीज होती है। वर्काबिलिटी का महत्व क्या होता है कंक्रीट में। और भी बहुत कुछ जानेंगे इस आर्टिकल में।  इसलिए प्लीज पूरा आर्टिकल पड़े और जानकारी अच्छी लगे तो कमेंट करे।

concrete kya hota hai

What is workability of concrete?

वर्काबिलिटी ये कंक्रीट की गुणधर्म है। जिसकी व्याख्या हमने निचे बताई है।
अगर कंक्रीट की मिक्सिंग, ट्रांसपोर्टेशन, प्लेसिंग, compaction, फिनशिंग etc. कंक्रीट के घटको के अलग अलग हुए बिना हो जाता है तो ऐसा कहा जा सकता है की कंक्रीट की workability अच्छी है।
कंक्रीट की वर्काबिलिटी को मापने के लिए कुछ टेस्ट किये जाते है जो हम next आर्टिकल में बताएँगे।

Properties of Fresh Concrete:

फ्रेश कंक्रीट की प्रॉपर्टीज को हमने निचे लिस्ट में बताये है।
  1. Mixability 
  2. Flowability 
  3. Harshness 
  4. Segregation 
  5. Bleeding 

1. Mixability:

अगर कंक्रीट के घटक easily मिक्स होकर homogeneous concrete बनाते है तो इस गुणधर्म को कंक्रीट की mixability कहते है।

2. Flowability:

अगर कंक्रीट easily फ्लो होकर formwork में easily सेटल होता है  है  अथवा तो easily ट्रांसपोर्ट होकर formwork में easily सेटल होता है। तो कंक्रीट की flowability अच्छी है ऐसा कहेंगे।
flowability प्रॉपर्टी ये कंक्रीट की वहनशक्ति को दर्शाता है।
कंक्रीट में water ऐड करने से कंक्रीट की flowability बड़ती है। पर कंक्रीट की स्ट्रेंथ घटती है.

3. Harshness :

कंक्रीट में सभी घटको का प्रोपोरशन  well-defined होना चाईए जिससे कंक्रीट homogeneous बने।
अगर कंक्रीट में एग्रीगेट का प्रमाण बढ़ता है अथवा तो सीमेंट का प्रमाण घटता है तो कंक्रीट मिक्स की harshness बढ़ेगी ऐसा कहा जा सकता है।

4. Segregation:

कंक्रीट के सभी घटक, सीमेंट, सैंड,एग्रीगेट, एंड वाटर का एक दूसरे से अलग होने की प्रक्रिया को कंक्रीट का segregation होना कहते है।

5. Bleeding:

कंक्रीट में वाटर का दुसरो घटको से अलग होकर कंक्रीट की सरफेस पर जमा होता है अथवा तो अलग होकर formwork के जॉइंट्स से बहार निकलता है। कंक्रीट में से वाटर के निकलने की प्रक्रिया को bleeding कहते है.
Bleeding, कंक्रीट का ज्यादा compaction  करने से बढ़ती है।
अगर कंक्रीट में पानी की specific gravity दुसरे घटको से कम होती है , तो वाटर कंक्रीट के सरफेस पर आकर जमा होता है  जिसे bleeding कहते है।

कंक्रीट में workability का महत्व :

  • अगर कंक्रीट की workability अच्छी होती है तो कंक्रीट का फिनिशिंग, कम्पैशन, प्लेसिंग, ट्रांसपोर्टेशन, और मिक्सिंग easily होता है।
  • अगर कंक्रीट की workability अच्छी होती है। तो कंक्रीट में segregation और bleeding नहीं होता है।
  • जो कंक्रीट की workability  अच्छी होती है, तो कंक्रीट की permeability और porocity घटती है। जिससे कंक्रीट की स्ट्रेंथ बढ़ती है।
Also read: